बस इतनी सी बात थी -A Passionate Love Poem of a Silent Lover

बस इतनी सी बात थी -A Passionate Love Poem of a Silent Lover

via

The poem, बस इतनी सी बात थी, is a passionate love poem of a silent lover, who has a lot to say but cannot. Every time we see someone we like, we fall for them to a greater extent. One of the greatest attributes of a silent lover is that of observation. They become a fan of paying attention to every little detail of the one they are falling for. This poem records those very emotions of how a man is falling in love but has his tongue-tied when it comes to confessing. Read this poem of one-sided love, which will envelop you within its emotions.

बस इतनी सी बात थी

एक हसीन शाम थी, और वो पास थी..
बेखबर अंजान थी, जब मेरी नजर उस पर सवार थी..
दोस्तों में उलझी थी वो, दोस्ती में खोयी थी..
देखते ही उसको मोहब्बत सी हुई थी,
पर उसे बता ना पाया,
बस इतनी सी बात थी …

रात में ख्याल उसका दिल मे गुदगुदाता रहा
नींद में भी ख्वाब उसका कानो मे गुनगुनाता रहा
आंखें खुलते ही उसे ढूंढने मैं लगा..
थी खड़ी वो बगान में और मैं उसे निहारता रहा..
देखते ही उसको फिर से मोहब्बत हुई ,
पर उसे बता ना पाया ,
बस इतनी सी बात थी …

one-sided love poems

via

बैठी थी वो सामने, लाल लिबास में,
जैसे मोहब्बत बैठी हो, मेरी ही तलाश में,
पलके झुकी और पलके उठी,
बस यही फर्क़ था दिन और रात मे..
देखते ही उसको फिर एक बार मोहब्बत हुई ,
पर उसे बता ना पाया,
बस इतनी सी बात थी …

आँखों में उसके शरारत छुपी थी,
बातों में उसके नजाकत बहुत थी..
ज़माने के आगे तो सिर्फ शराफत दिखी थी…
पर हमने जो देखा वो उसकी रूहानीयत थी, और
देखते ही उसको फिर एक बार मोहब्बत हुई ,
पर उसे बता ना पाया,
बस इतनी सी बात थी ….

love poems
via
वक़्त की राह में, वह मोड़ भी आया,
वो पास आकर बैठी और दिल मुस्कुराया।
बातों से अपने उसको लुभाने लगे,
जो आँखों में झाँका उसके, हम खोने लगे।
और देखते ही उनसे इक दफ़ा और मोहब्बत हुई,
पर उसे बता ना पाया,
बस इतनी सी बात थी ….

रूहें मिली, सुकून हुआ..
लब मिले, तड़पन हुआ,
हम फ़िर मिलेंगे!
कहकर वो चल दिये,
इक खूबसूरत मोड़ पर जो वो छोड़ गए,
देखते रह गए हम उन्हें दूर जाते,
और देखते ही उनसे बेपनाह मोहब्बत हुई,
पर उसे रोक ना पाया,
बस इतनी सी बात थी ….

If you liked the sentiments expressed in this poem, share it with those who would understand it. Please leave a comment if you want a translation of this poem in the English language.

6 Dating Habits To Rekindle The Fire In Your Marriage

Liked this article? Rate us to show your love
[Total: 8   Average: 4.8/5]

Rajesh Kumar

Rajesh Kumar is the co-founder and author of the e-magazine Love Smitten. He is the author of the fiction novel The Love Victim, and is passionate about spreading the word of LOVE! Movies and poetry are his 'go-to' rejuvenations!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: